RABINDRANATH TAGORE BIOGRAPHY HINDI

RABINDRANATH TAGORE

 

रबिंद्रनथ टैगोर हमारे उन विरल  साहित्कारों में से एक है जिन्होंने  साहित्य और व्यक्तित्ब  में अद्भुत  साम्य  प्राप्त किया है ।  रबीन्द्रनाथ टैगोर का जन्म ७ मई १८६१ में   कोलकाता  में हुआ था।  इनके  पिता का नाम देवेन्दर्नाथ टैगोर था और माता का नाम शारदा देवी था।

 इन्होने लंदन विश्व विधालय में कानून की विद्या  पर्याप्त की  परन्तु १८८० में उनके पिता ने उन्हें  घर  बापिस बुला लिया जिस  वजह से वे  डिग्री केबिना ही  वापिस  आ गए । सन १८८३ में उन का विवाह  मृणालिनी देवी  के साथ हुआ  था।  आठ साल की उम्र में उन्होंने अपनी पहली किताब लिखी थी और १८७७ में  सोलह साल की उम्र में उनकी लघुकथा  प्रकाशित हुई  थी।  

 

महा कबि रबीन्द्रनाथ टैगोर प्रथम भारतीय थे जिन्हे वर्ष १९१३ में उनकी कविता संग्रह ‘गीतांजलि ‘के अंग्रेजी अनुवाद पर साहित्य का नोवल पुरुस्कार प्राप्त हुआ था  । १९०१ में रबीन्द्रनाथ टैगोर ने पश्चिम  बंगाल के ग्रामीण क्षेत्र में एक प्रायोगिक विधालय की स्थापना की । उस समय उस विधालय में सिर्फ पांच छात्र ही थे । इंदिरा गांधी जैसी कई प्रतिभाओं ने शांतिनिकेतन से शिक्षा प्राप्त की थी ।

रबीन्द्रनाथ टैगोर विश्व के एक मात्र ऐसे साहित्यकार थे जिनकी दो रचनाये दो देशो का राष्ट्रगान बनी भारत का राष्ट्रगान जन  गण मन और बांग्लादेश का राष्ट्रगान आमार सोनार बांग्ला गुरुदेव की ही रचनाये है । साहित्य में टैगोर का नाम एक समुन्द्र की तरह था जिनकी गहराई अथाह थी जिसे कभी मापा नही जा सकता ।