Newspapers in India Hindi Essay समाचार-पत्र

समाचार-पत्र
आज विश्व में समाचार-पत्रों का प्रकाशन सर्वाधिक प्रचलित और प्रभावी संचार-साधन हैI हिंदुस्तान का सबसे पहला समाचार-पत्र ‘बंगाल गजट’ नाम से निकला थाI


तब से मुद्रण तकनीक के विकास के साथ-साथ समाचार-पत्रों का प्रकाशन तथा जन-वितरण निरंतर प्रगति के पथ पर हैI आज अंग्रेजी तथा हिंदी भाषा के अतिरिक्त सभी अन्य भाषाओं में समाचार-पत्रों का प्रकाशन काफी जोरों पर हैI ये समाचार-पत्र राजनैतिक, सामाजिक, व्यावसायिक क्षेत्र कि सूचनाएं देकर जनमत तैयार करने का महतवपूर्ण कार्य करते हैंI

एक तरह से इन समाचार-पत्रों को समय कि आँख और समाज कि नब्ज कहा जाता हैI समाचार-पत्र जन-जीवन कि वास्तविकताओं को उजागर करके सत्ता का ध्यान आकर्षित करते हैं और सत्ता की नीतियों का आकलन समाज के सामने रखते हैंI

एक प्रकार से स्वस्थ पत्रकारिता के माध्यम से वे जनता और सत्ता के बीच एक मजबूत कड़ी कि भूमिका निभा सकते हैंI अखबार कि ताकत का इजहार इन शब्दों में दर्शनीय है-
“खेंचो न कमान-ओ-खंजर, ना तलवार निकालोI
जब तोप मुकाबिल हो तो अखबार निकालोII”