Nawazuddin Siddiqui Indian film actor

Nawazuddin Siddiqui Hindi Essay – Indian film actor
नवाजुद्दीन सिद्दीकी एक भारतीय फिल्म अभिनेता है जो हिंदी सिनेमा में काम करते है। नवाजुद्दीन सिद्दीकी का जन्म 19 मई 1974 को हुआ. नवाजुद्दीन सिद्दीकी का जन्म भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के पश्चिमी भाग में मुजफ्फरनगर जिले के एक छोटे से शहर और तहसील,बूढना में एक जमींदारी मुस्लिम परिवार में हुआ था। वह अपने आठ भाई-बहनों में सबसे बड़े हैं.

उन्होंने गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय, हरिद्वार से रसायन विज्ञान में विज्ञान की डिग्री में स्नातक किया। इस के बाद उन्होने एक साल के लिए वडोदरा में एक दवा की दुकान में काम किया है और उसके बाद एक नई नौकरी की तलाश में दिल्ली के लिए रवाना हो गये. एक बार दिल्ली में उन्होने एक नाटक देखा और उसके बाद वह अभिनय के लिए तैयार हो गये और उन्होने दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा (एनएसडी) में दाखिला लिया. कोर्स ख़तम करने के बाद वह मुंबई चले गये.

सिद्दीकी ने 1999 में अपने बॉलीवुड करियर की शुरुआत आमिर खान अभिनीत फिल्म, सरफरोश में एक छोटी सी भूमिका के साथ की. अपने कैरियर के शुरू में किसी का ध्यान उनके प्रदर्शन पर नहीं गया लेकिन एक अवधि के बाद उन्होने 2012 के राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों में विशेष जूरी और 2013 में सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार प्राप्त किया.

2012 में वह चार प्रमुख फिल्मों में दिखाई दिए – कहानी (2012), गैंग्स (2012) ऑफ वासेपुर, गैंग्स ऑफ वासेपुर – भाग 2 (2012) और तलाश (2012), ये सभी फिल्में उनके कर्रियर के लिए बहुत महत्वपूर्ण रही और इनके लिए उन्हें स्क्रीन पुरस्कार सहित अर्जित सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता पुरस्कार, जी सिने अवार्ड सहायक भूमिका में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता, दोनों तलाश फिल्म में तैमूर के रूप में उनकी भूमिका के लिए मिले. उन्हें गैंग्स ऑफ वासेपुर में उनकी भूमिका के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता के लिए पुरस्कार मिला. सिद्दीकी को अपनी फिल्में: कहानी, गैंग्स ऑफ वासेपुर, देख इंडियन सर्कस और तलाश के लिए 60 वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार 2012 में विशेष जूरी पुरस्कार से सम्मानित किया गया.