Hindi Essay on Kabaddi

Hindi Essay on Kabaddi

Kabaddi

कबड्डी भारत का जाना माना खेल है। कबड्डी बहुत मजेदार और स्वास्थप्रद खेल है। ये भारत के साथ इसके पडोसी देशों पाकिस्तान, बंगाल ,नेपाल आदि में भी उतना ही लोकप्रिय है।

इस खेल को खेलने क लिए हमे किसी भी प्रकार के सामान की आवयश्कता नही होती जैसा की अन्य खेलो में होती है । कबड्डी के लिए किसी विशेष स्थान की जरूरत नहीं पड़ती । यह कंही भी और कभी भी खेली जा सकती है । हाँ इसमें चोट लगने का थोडा डर होता है यदि स्थान पथरीला हो तो ।

कबड्डी भारत का जाना माना खेल

कबड्डी में दो टीम होती है । दोनों टीमों में ७-७ खिलाडी होते है। इसे खेलने के मैदान के बीच में एक लाइन होती है जिसे पाला कहा जाता है। खेल शुरू होने पे एक टीम का खिलाडी विपक्षी टीम के पाले में कबड्डी-कबड्डी बोलते हुए जाता है । वहां उसकी कोशिश होती है की बिना सांस टूटे वो विपक्षी टीम क खिलाडी को छु के अपने पाले में वापिस आ सके और अगर ऐसा होता है तो उस टीम को अंक मिल जाता है और विपक्षी टीम का खिलाडी आउट हो जाता है और खेल से बहार हो जाता है। परंतु अगर विपक्षी टीम के खिलाडी उस आये खिलाडी को पकड़ लेते है तो वो आउट हो जाता है।

Conclusion

ये खेल भारत के ग्रामीण इलाको में बहुत खेला जाता है। ये खेल ताकत और बुद्धि का मिला-जुला संगम होता है।