GULZARI LAL NANDA

GULZARI LAL NANDA

गुलज़ारी लाल नंदा का जन्म ४ जुलाई १८९८ सियालकोट जो अब पश्चिम पाकिस्तान का हिस्सा है ,में हुआ था । इनके पिता का नाम बुलाकी राम नंदा था तथा माता का नाम श्रीमती ईश्वर देवी नंदा था । इनकी प्राथमिक शिक्षा सियालकोट में ही हुई थी । इसके बाद उन्होंने लाहौर के फोरमैन क्रिश्चयन कॉलेज तथा इलाहाबाद विश्वविद्यालय में अध्ययन कर कला संकाय में स्नातकोत्तर एवं कानून की स्नातक उपाधि प्राप्त की । गुलज़ारी लाल नंदा प्रथम बार पं जवाहर लाल नेहरू की मृत्यु के बाद १९६४ और बाद में दूसरी बार लाल बहादुर शास्त्री की मृत्यु के बाद १९६६ में कार्यवाहक प्रधानमंत्री बने । यह एक राष्ट्रभक्त होने के साथ साथ बहुमुखी प्रतिभा के धनी व्यक्ति थे । इन्होने मुंबई की विधानसभा में १९३७ से १९३९ और फिर १९४७ से १९५० तक विधायक रहे । १९४७ में इन्होने इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस की स्थापना की । दिल्ली में उन्हें १९५० -१९५१ ,१९५२ -१९५३ ,और १९६० -१९६३ में भारत के योजना आयोग के उपाध्यक्ष पद पर नियुक्त किया गया । श्रमिको और शोषित वर्ग के लोगो की दशा को सुधरने और उनके हितो की रक्षा करने के लिए उन्होंने कई प्रयास किये । सौ वर्ष की आयु में १५ जनवरी १९९८ को उनका निधन हो गया |