Dr. NEELAM SANJEEVA REDDY

नीलम संजीव रेड्डी एक कृषक परिवार से सबंध रखते थे। यह एक  अनुभवी नेता होने के  साथ साथ एक अच्छे कवि और  प्रशासक भी थे । यह एक समान्य  मध्य वर्गीय परिवार से सम्बन्ध रखते थे ।

यह एक पक्के राष्ट्रवादी  थे । इनका जन्म १९ मई  १९१३ को आँध्रप्रदेश के अनंतपुर जिले में हुआ था ।

इनके पिता का नाम नीलम चिनप्पा रेड्डी था । यह एक कांग्रेस  पुराने कार्यकर्ता और प्रसिद्ध नेता थे । इनकी प्रारम्भिक शिक्षा थियोसोफिकल हाई स्कूल अड्यार ,मद्रास में  थी ।इन्होने अपनी आगे की पढ़ाई अटिस कॉलेज अनंतपुर से ग्रहण की । जब लाखो युवाओ ने महात्मा गांधी  प्रभावित होकर पढ़ाई लिखाई छोड़ दी और स्वतंत्रता संग्राम में शामिल  गए ,तब संजीव रेड्डी सिर्फ १८ वर्ष की आयु में स्वतंत्रता आंदोलनों में अपनी सक्रिय भूमिका निभाने लगे थे । इसी दौरान उन्हें कई बार जेल की हवा खानी  पड़ी थी । इंतना ही नही इन्होने महात्मा गांधी से प्रभावित होकर सत्याग्रह आंदोलन किया था । इन्होने कांग्रेस के  सदस्य के रूप में राजनीतिक जीवन आरंभ किया  था । संजीव रेड्डी में आंध्रप्रदेश के कांग्रेस समिति के समान्य सचिव चुने गए थे । इन्होने इस पद पर १० वर्ष  कार्य था । इन्होने  कांग्रेस पार्टी की तीन सत्रों  अध्यक्षता  की । १२ मार्च १९५२ को आंध्रप्रदेश के   मुख्यमंत्री बने । १९७१ में लोकसभा चुनाव में हार का सामना  करना पड़ा । जिससे उन्हें गहरा धक्का लगा । जनवरी १९७७ में यह जनता पार्टी की कार्य समिति के सदस्य बने । २६ मार्च१९७७  को इन्हे सर्वसमति से  स्पीकर चुना गया । लकिन  १३ जुलाई १९७७ को   इन्होने अपना पद  दिया । क्योंकि इन्हे राष्ट्रपति पद  लिए नामांकित किया  था ।जिस   में  इन्हे सर्वसमति से निर्विरोध आठवे राष्ट्रपति चुने   गए । राष्ट्रपति पद  पर १४ वर्ष सफलतापूर्वक कार्य करने  इनका निधन हो गया ।