CHANDRA SHEKHAR Indian Prime Minister

CHANDRA SHEKHAR

हमारे भारत के आठवें प्रधान मंत्री चन्द्र शेखर का जन्म १ जुलाई १९२७ को उत्तरप्रदेश के एक छोटे से गांव इम्ब्राहिमपुर में हुआ । इन का परिवार एक कृषक परिवार था । इलहाबाद विश्वविद्यालय से स्नातकोत्तर की परीक्षा पास की । उसके बाद इन्होने राजनीति में कदम रखा । इनके विचार एक क्रन्तिकारी विचार थे । इनका स्वभाव वेहद संयमित था । विश्व नाथ प्रताप सिंह के असफल शासन के बाद चन्द्र शेखर ने ही प्रधानमंत्री का कार्यभार संभाला । जब वह विद्यर्थी थे तभी से उन्होंने राजनीती में कदम रख लिया था। निष्पक्ष देश प्रेम के कारण इन्हे ‘युवा तर्क ‘के नाम से जाना जाता है । राजनीती विज्ञानं में स्नातकोत्तर की पढ़ाई पूरी करने के बाद वह समाजवादी आंदोलन से जुड़ गए । उसके बाद जल्दी ही यह बलिया जिला के प्रजा समाजवादी दल के सचिव बने और उसके बादराज्य स्तर पर संयुक्त सचिव बने । केवल राजनीती में ही नही उनका रुझान पत्रकारिता में भी था । इन्होने यंग इंडिया नमक एक सप्ताहिक समाचार पत्र का भी सम्पादन और प्रकाशन किया । इसके अलावा इन्होने एक और कृति डायनामिक्स ऑफ़ चेंज के नाम से प्रकाशित की जिसमे उन्होंने अपने यंग इंडिया के अनुभवों और कुछ महत्वपूर्ण घटनाओं का जिक्र किया गया है । यह देश के पहले ऐसे प्रधानमंत्री है जिन्हे १९५५ में सर्वाधिक योग्य सांसद का सम्मान दिया गया था । फिर ८ जुलाई २००७ को इनकी तबियत ज्यादा खराब होने की वजह से इनका निधन हो गया ।