Buffering System For Fishes बफरिंग सिस्टम

Buffering Systems for Fishes
पीएच में स्तर में उतार चढ़ाव से बचने के लिए बफरिंग प्रणाली जलीय कृषि में बहुत आवश्यक है. पौधे और पशु श्वसन से कार्बन डाइऑक्साइड को स्टोर करने के साधन अगर ना हो तो , पीएच स्तर तालाबों में दिन के दौरान लगभग 4-5 से और दिन में 10 तक उतार चढ़ाव कर सकता है. रेसीरकुलटिंग प्रणालियों में लगातार मछली श्वसन से पानी में कार्बन डाइऑक्साइड की मात्रा अधिक हो जाती है जो मछली को ऑक्सीजन लेने में हस्तक्षेप करती है और पानी का पी एच कम हो जाता है.

पानी में हाइड्रोजन आयन की मात्रा तय करती है की पानी असिडिक है या बेसिक. असिडिटी की डिग्री को मापने के लिए पैमाने पर 1 से 14 के बीच है . पी एच . . जाता है.. 7 का मूल्य है, जो न तो असिडिक ना बेसिक माना जाता है, 7 से नीचे मूल्यों को असिडिक. जाता है, 7 से ऊपर को बेसिक. मछली पालन के लिए स्वीकार्य सीमा पीएच 6.5-9.0 के बीच आम तौर पर है.