Advertisements Hindi Essay | विज्ञापन: लाभ और हानि

 

जीवन की आवश्यकताओं के साथ साथ आज हमारे दैनिक प्रयोग की कॉटिश: वस्तुएँ भी रोज़ रोज़ निर्मित हो रही हैं. आज के विज्ञापन ही हमें उनके निकट लाते हैं. उपभोगता सामग्री की क्यूंकी जीवन में आव्यशकता होती है इसलिए कहा जा सकता है की इसका शेत्र हमारे व्यवहृीक जीवन का संपूर्ण आँगन है. किसी भी प्रकार की सूचना तथा प्रचार को हम विज्ञापनो द्वारा जनता तक पहुँचा सकते हैं. वे सूचनायें कई प्रकार की हो सकती हैं – नौकरी पेशे की , खाली मकानो के बेचने की, औषधियों तथा वस्त्रों का प्रचार, वैवाहिक , सरकारी कार्यक्रमों का प्रचार, फिल्मों के विज्ञापन – जीवन के किसी शेत्र की बातें विज्ञापन के ज़रिए आम आदमी तक पहुँचाई जा सकती हैं